Saturday, December 3, 2022
- Advertisement -

मुंबई के विद्यार्थी सबसे अधिक होशियार,दूसरे नंबर पर पुणे, कोकण मंडल के सबसे अधिक विद्यार्थी हुए पास

- Advertisement -
- Advertisement -

10वीं की परीक्षा में एक बार फिर मुंबई के विद्यार्थियों ने अपने आप को श्रेष्ठ साबित किया है। शुक्रवार को जारी रिजल्ट में उच्च अंक पाने वाले विद्यार्थियों में सबसे अधिक मुंबई के विद्यार्थी हैं। स्टेट बोर्ड के अनुसार, परीक्षा में 75 प्रतिशत या उससे अधिक अंक पाने में मुंबई के सबसे अधिक 1,10,979 विद्यार्थी सफल रहे। मुंबई के बाद पुणे के 1,02,476 विद्यार्थियों ने 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं।

- Advertisement -

कोरोना वायरस की वजह से रद्द हुई परीक्षाओं के बाद हुई इंटर्नल मार्किंग के आधार पर जारी हुए रिजल्ट में बच्चों को रिकॉर्ड अंक प्राप्त हुए हैं। 15,75,752 में से 6,48,683 विद्यार्थियों को 75 प्रतिशत से अधिक अंक मिले हैं। 6,98,885 विद्यार्थियों को 60 प्रतिशत से ज्यादा अंक मिले हैं। 2,18,070 विद्यार्थियों को 45 प्रतिशत और 9356 विद्यार्थियों को 35 प्रतिशत के करीब अंक प्राप्त हुए हैं। शारीरिक रूप से अक्षम होने के बावजूद दिव्यांग छात्रों का परीक्षा परिमाण 97.84 प्रतिशत रहा है।

कोकण मंडल के विद्यार्थियों ने सभी मंडलों को पछाड़ दिया है। कोकण से सर्वाधिक शत प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। बोर्ड की परीक्षा राज्य के नौ मंडलों में आयोजित की गई थी। 99.98 प्रतिशत के साथ अमरावती मंडल के विद्यार्थी राज्य में दूसरे स्थान पर रहे। मुंबई, पुणे, नाशिक, औरंगाबाद, लातूर मंडल के 99.96 फीसदी विद्यार्थी सफल हुए हैं। नागपुर मंडल का परिणाम 99.84 प्रतिशत घोषित हुआ है।

- Advertisement -

22,384 स्कूलों का रिजल्ट शत प्रतिशत
एसएससी की परीक्षा में राज्य के कुल 22767 स्कूलों के 1658614 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया था। इनमें 22384 स्कूलों के 100 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं। एसएससी की इस परीक्षा में कुल 72 विषय की परीक्षा आयोजित की गई थी। इनमें 27 विषयों का रिजल्ट 100 प्रतिशत रहा है।

- Advertisement -

बोर्ड की परीक्षाओं में दूसरी बार शामिल होने वाले विद्यार्थियों का रिजल्ट 90.25 प्रतिशत रहा है। 10वीं की परीक्षा में दोबारा किस्मत आजमाने के लिए 82802 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन किया था। इनमें से 82674 विद्यार्थियों का मूल्यांकन स्कूल द्वारा किया गया, जिनमें 74618 विद्यार्थियों को सफलता मिली है। दोबारा परीक्षा में लड़कों ने लड़कियों को पछाड़ दिया है। रिपीटर लड़कों का रिजल्ट 91.47 प्रतिशत और लड़कियों का रिजल्ट 87.19 प्रतिशत रहा है।

ठाणे जिले में लड़कियों ने मारी बाजी
ठाणे जिले का एसएसी परीक्षा परिणाम 99.28 प्रतिशत रहा है। मुल्यांकन के आधार पर घोषित नतीजों में इस साल भी लड़कों की तुलना में लड़कियां आगे रहीं। पिछले साल की तुलना में इस साल ठाणे जिले के परिणाम में 2.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। जिले में इस वर्ष उत्तीर्ण हुए कुल विद्यार्थियों में से 40,334 को 75 प्रतिशत से अधिक अंक मिले हैं।

53,868 विद्यार्थियों को 60 से 74 प्रतिशत, 23,368 को 45 से 59 प्रतिशत और 5638 विद्यार्थियों को 35 से 44 प्रतिशत अंक हासिल हुए हैं। जिले में 1,23,020 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए। पास होने वाले विद्यार्थियों में 99.23 प्रतिशत लड़के और 99.35 प्रतिशत लड़कियां शामिल हैं। मीरा-भाईंदर का रिजल्ट सबसे बेहतर 99.71 प्रतिशत रहा।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -