Friday, August 5, 2022
- Advertisement -

भागवत कदम के सिक्योरिटी एजेंसी के वॉचमैन करते हैँ महिलाओं से छेड़छाड़ पुलिस ने तीन वॉचमैनो पर रखी थी नजर कर लिया गिरफ्तार .

- Advertisement -
- Advertisement -
मुंबई के ओशिवारा पुलिस ने 3 लोगों को एक 28 वर्षीय पेंटर के साथ छेड़खानी के मामले में गिरफ्तार किया हैँ! पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किये गए 3 लोगों में 2 वॉचमैन है जबकि 1 आरोपी सोसाइटी का ब्रोकर है!
 अँधेरी के अनुपूर्णा हाउसिंग कोआपरेटिव सोसाइटी के तीन कर्मचारियों को ओशिवारा पुलिस ने गिरफ्तार किया है इन तीनो पर आरोप है कि यें आती जाती महिलाओं को ना केवल छेड़ा करते थे बल्कि उनपर गन्दी गन्दी बात पास किया करते थे। पीड़िता के मुताबिक उनकी यें हरकत काफी समय से चल रही थी जिसके बारे में उसने अपने बॉस को बताया था।
दरअसल पीड़िता एक पेंटर होने के साथ साथ एक प्रोडक्शन हाउस में ऑफिस सेक्रेटरी पोस्ट पर काम करती है! पकडे गए आरोपी सोमनाथ पुजारी, सतीश मौर्या और बृजेश यादव है जिन पर पुलिस ने 354 (D) 509 और 34 जैसी धाराये लगाई हैँ। पीड़िता ने 25/10/21 को ओशिवारा पुलिस में प्राथमिक दर्ज कराई थी जिसके बाद शुक्रवार यानि 29/10/21 को शाम 7 बजे गिरफ्तार किया पर गनीमत यें  रही कि इन आरोपियों को जांच अधिकारी गजानन करानडे ने जिस लेट लतिफी से गिरफ्तार कि उससे भी जल्दबाजी दिखाई इन आरोपियों को छोड़ने में, तीन घंटे के अंदर ही इन तीन आरोपियों को टेबल जामीन दे दी।
जब हमने पुलिस स्टेशन के अधिकारियो को इस मामले के बारे में पूछा तो हमें बताया गया कि जांच अधिकारी पीएसआई गजानन करानडे ने उन्हें ना तो गिरफ्तार किये जाने कि सुचना दी और ना ही उन्हें टेबल जामीन देने कि बात कही।
हम आपको बता दे कि महिलाओं से छेड़खानी मामले में पुलिस आरोपियों को कोर्ट में हाजिर करती है जहाँ से उन्हें कोर्ट बेल देने या ना देने कि कारवाही करता है पर पुलिस स्टेशन के जज PSI गजानन करानडे ने फैसला देने में जरा भी देरी नहीं कि और उन्हें जल्द ही जल्द ज़मानत देकर घर पर सो जाने को कहा। पर आरोपियों को जब किसी भी तरह कि कारवाही से नहीं गुजरना पड़ा तो उनके हौसले बढ़ गए और रात में ही सोसाइटी में जाकर पीड़िता के घर मालिक को धमकाना शुरू कर दिया।
जब इस घटना कि जानकारी आला अधिकारीयों को हुई तो उन्होंने इन तीनो आरोपियों को दुबारा डराने धमकाने के आरोप में पुलिस स्टेशन लाये और उन पर preventive एक्शन शुरू कर दिया। आपको बता दे कि साकीनाका रेपकाण्ड के बाद मुंबई पुलिस ने निर्भया पथिक बनाया है मगर इस घटना से तो यहीं लगता है कि गजानन करानडे जैसे अधिकारीयों कि गलती के वजह से ही निर्भया जैसी घटना घटती हैँ।
फिलहाल इस मामले में ओशिवारा पुलिस के सीनियर इंस्पेक्टर संजय बेंडाले ने जांच अधिकारी करानडे को हटा दिया है और नये जांच अधिकारी  एपीआई संदीप शिंदे को नियुक्त किया हैँ। पीड़िता के मुताबिक यें सिक्योरिटी एजेंसी भागवत निवृति कदम कि जिसके वॉचमैन उसके इशारे पर लड़कियों को छेड़ने का काम करते है।
भागवत कदम खुद को   शिवसेना नेता बताता है और लोगों को धमकाने का काम करता है!इधर ओशिवारा पुलिस स्टेशन सीनियर इंस्पेक्टर संजय बेंडाले ने पीड़ित लड़की को भरोसा दिलाया कि आप मुंबई में सुरक्षित है और मुंबई पुलिस महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हर संभव तैयार हैँ!
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -