Friday, August 5, 2022
- Advertisement -

राष्ट्रीय निशानेबाज कोनिका की कोलकाता में रहस्यमय माैत, फरवरी में होनी थी शादी, जानें-हादसा या साजिश ?

- Advertisement -
- Advertisement -

राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज कोनिका लायक की कोलकाता में रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई। माैत को लेकर तरह-तरह की बातें आ रही हैं। हादसा से लेकर साजिश तक की बात की जा रही हैं। वैसे अभी तक इसकी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। कोलकाता में रहने वाली कोनिका की माैसी ने गंभीर आरोप लगाया है। उसका कहना है कि झारखंडी होने के कारण कोलकाता में कोनिका की उपेक्षा हो रही थी। राष्ट्रीय निशानेबाज की माैत की खबर धनबाद आने के बाद लोग स्तब्ध हैं। आखिर उसकी कैसे माैत हो गई ? उसने ने अभिनेता सोनू सूद से देश के लिए राष्ट्रीय पदक लाने का वादा किया था। सोनू ने ही उसे राइफल दी थी।

- Advertisement -

कोनिका के पिता पार्थो लायक और माता वीणा लायक को सूचना मिली थी कि बेटी बीमार है। वे लोग कोलकाता गए तो जानकारी मिली कि वह जीवित नहीं रहीं। पार्थो ने दूरभाष पर कहा कि सब कुछ खत्म हो गया। क्या और कैसे हुआ, अभी कह नहीं सकते। इधर कोनिका की मौत की सूचना के बाद उनके धनसार आवास पर लोगों का तांता लगा रहा। गुरुवार को शव का पोस्टमार्टम होगा। इसके बाद अनुग्रह नगर के आवास पर शव को लाया जाएगा। कोनिका कोलकाता के बाली में रहकर जयदीप कर्मकार शूटिंग अकादमी में प्रशिक्षण ले रही थीं। अक्टूबर में गुजरात में एक प्रतियोगिता में भाग लेने गई थीं। अगस्त 2020 में उनको कोरोना का संक्रमण हो गया था।

कोनिका की शादी तय हो गई थी। फरवरी में विवाह होना था। शादी की तैयारी शुरू हो गई थी। कोनिका की बहनें अनुश्री, तनुश्री एवं मोनिका विवाह को लेकर उत्साहित थीं। कोनिका के लिए लहंगा-चुनरी खरीद ली गई थी। तीन दिन पहले मां कोलकाता में कोनिका से मिल कर आई थीं। वह बेहद खुश थीं। कोलकाता से आने के बाद उन्होंने शादी के लिए खरीदारी की। स्वजन भौंचक है कि दो दिन में ऐसा क्या हुआ जो कोनिका की मौत हो गई। कहा जा रहा है कि उसने आत्महत्या की है। इस मामले की कोलकाता पुलिस जांच कर रही है।

- Advertisement -

कोनिका होनहार और साहसी थी। माता-पिता को उनपर बहुत नाज है। उन्हें बेटा की तरह मानते थे। पार्थो सबसे कहते थे कि बेटा नहीं तो क्या हुआ, कोनिका किसी से कम नहीं है। माता-पिता हमेशा उन्हें प्रोत्साहित करते रहे।

- Advertisement -

राष्ट्रीय स्तर पर निशानेबाजी के लिए कोनिका का चयन हो गया था, लेकिन उनके पास राइफल नहीं थी। वह अपने दोस्त की राइफल से निशानेबाजी का अभ्यास कर रही थीं। कोनिका ने सोनू सूद को ट्वीट कर जर्मन राइफल खरीदने के लिए मदद की गुहार लगाई थी। 10 मार्च को सोनू ने ट्विटर पर उन्हें मदद करने की घोषणा की थी। 24 जून को कोनिका को जर्मन राइफल मिल गई। इसके बाद कोनिका और सोनू ने वीडियो काल पर बातचीत की थी। सोनू ने कहा था- तुम देश के लिए पदक लाना, तब मेरा भी सपना पूरा होगा। राइफल मिलने के बाद अगस्त से वह कोलकाता में प्रशिक्षण ले रही थीं।  निशानेबाजी में कोनिका की यात्रा 2014 से शुरू हुई थी। वह बस्ताकोला शूटिंग सेंटर में जाने लगी थी। इसके बाद झारखंड की तरफ से खेलते हुए उन्होंने कई पदक जीते। राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धा में उन्हें मौका मिल गया था। अब वह अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने की तैयारी कर रही थीं।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -